वास्तु विज्ञान के अनुसार गणेश जी को घर के ब्रह्म स्थान (केंद्र) में, पूर्व दिशा में एवं ईशान में विराजमान करना शुभ एवं मंगलकारी होता है। इस बात का ध्यान रखें कि गणेश जी की सूंड उत्तर दिशा की ओर हो। गणेश जी को दक्षिण या नैऋत्य कोण में नहीं रखना चाहिए।


इस बात का ध्यान रखें कि घर में जहां भी गणेश जी को विराजमान कर रहे हों वहां कोई और गणेश जी की प्रतिमा नहीं हो। अगर आमने सामने गणेश जी प्रतिमा होगी तो यह मंगलकारी होने की बजाय आपके लिए नुकसानदेय हो जाएगी।

वास्तुशास्त्र में कई ऐसे पेड़ों के बारे में बताया गया है, जो वास्तुदोष का निवारण करते हैं। जो पेड़ वास्तु की नजर से फायदेमंद माने जाते हैं, उन्हें घर में लगाने से घर-परिवार में सुख और खुशियां बढ़ती हैं। इन पेड़-पौधों को वास्तु के अनुसार, अपने घर में लगाएं-
1. तुलसी के पौधे को एक तरह से लक्ष्मी का रूप माना गया है। आपके घर में यदि किसी भी तरह की नकारात्मक ऊर्जा मौजूद है तो यह पौधा उसे नष्ट करके घर में धन की वृद्धि करता है।

2. तुलसी का पौधा घर के दक्षिणी भाग में नहीं लगाना चाहिए, घर के दक्षिणी भाग में लगा हुआ तुलसी का पौधा फायदे के बदले काफी नुकसान पहुंचा सकता है।