किस दिशा मे अपने दांता काे साफ करें:——
अर्थात पूर्व की आेर मुख करके दंतधावन करने से धैर्य सुख आैर शरीर की नीराेगता की प्राप्ती हाेती है दक्षिण की आेर मुख करने से कष्ट आैर पश्चिम की आेर करने से पराजय की प्राप्ती हाेती है उत्तर की आेर मुख करने से गाै स्त्री एवं परिजनाे का नाश हाेता है पूर्वोतर ( ईशान ) दिशा की आेर मुख करने से सम्पूर्ण कामनाआे की सिध्दी हाेती है।

तिजाेरी रखे सही दिशा में:—-

धन में वृद्धि और बचत के लिए तिजोरी या आलमारी जिसमें धन रखते हों, उसे दक्षिण दिशा में इस तरह रखें की इसका मुंह उत्तर दिशा की ओर रहे। धन में वृद्धि के लिए तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा की ओर रखना सबसे अच्छा माना जाता है। यह धन वृध्दि के साथ ठहराव भी देता अनावश्यक खर्चा पर नियंत्रण हाेता है।