ज्योतिष के अनुसार जिन लोगों का मन किसी काम में नहीं लगता हो या दिमाग तेज नहीं चलता हो उन्हें हरे रंग के गणेशजी की पूजा करना चाहिए। क्योंकि बुद्धि का कारक बुध ग्रह होता है और हरा रंग का कारक बुध है। यदि ऐसे लोग हरे रंग के या पन्ने से निर्मित गणेशजी की पूजा करें तो उनके बुध ग्रह से संबंधित सभी दोष कम हो जाते हैं और इसका उन्हें लाभ मिलता है। दिमाग तेज चलने लगता है और भी कई लाभ होते हैं। चूंकि पढ़ाई पूरी तरह से मानसिक कार्य है इसलिए विद्यार्थियों के लिए भी हरे रंग के गणेशजी की पूजा करना शुभ होता है। व्यापार में सफलता पाने के लिए भी हरे रंग के गणेशजी की ही पूजा करना चाहिए।
पूजन विधि- सुबह नित्य कर्मों से निवृत्त होकर भगवान श्रीगणेश का पंचोपचार पूजन करें। उन्हें दुर्वा व फूल चढ़ाएं। लड्डू का भोग लगाएं और इस मंत्र का जप पन्ने की माला से करें।
मंत्र- नमस्तस्मै गणेशाय ब्रहविद्या्रदायिने।
यस्यागस्त्यायते नाम विघ्वसागरशोषणे।।