कमल गट्टा कमल के पौधे में से
निकलते हैं व काले रंग के होते हैं। यह बाजार में
आसानी से मिल जाते हैं। मंत्र जप के लिए इसकी
माला भी बनती है। इसके अलावा भी इसके कई
प्रयोग हैं। इसके कुछ प्रयोग नीचे लिखे हैं जिनसे माता
लक्ष्मी को प्रसन्न किया जा सकता है।
उपाय
1- जो व्यक्ति प्रत्येक बुधवार को 108 कमलगटटे के
बीज लेकर घी के साथ एक-एक करके अग्नि में 108
आहुतियां देता है। उसके घर से दरिद्रता हमेशा के लिए
चली जाती है।
2- जो व्यक्ति पूजा-पाठ के दौरान की माला अपने
गले में धारण करता है उस पर लक्ष्मी की कृपा सदा
बनी रहती है।
3- यदि रोज 108 कमल के बीजों से आहुति दें और
ऐसा 21 दिन तक करें तो आने वाली कई पीढिय़ां
सम्पन्न बनी रहती हैं।
4- यदि दुकान में कमल गट्टे की माला बिछा कर उसके
ऊपर भगवती लक्ष्मी का चित्र स्थापित किया
जाए तो व्यापार में कमी आ ही नहीं सकती। उसका
व्यापार निरंतर उन्नति की ओर अग्रसर होता रहता
है।
5- कमल गट्टे की माला भगवती लक्ष्मी के चित्र पर
पहना कर किसी नदी या तालाब में विसर्जित करें
तो उसके घर में निरंतर लक्ष्मी का आगमन बना रहता
है।