आप लोग अपने जीवन मे लागू करके जल्दी ही अच्छा सुख पा सकते हैं।
आप अपने किसी भी मंदिर या धर्मस्थान के बुजुर्ग पंडित जी को या फिर आपके खानदान के कुल पुरोहत जी को अपनी इच्छा अनुसार चने की दाल, साबुत हल्दी, कोई भी धार्मिक ग्रंथ और 2 ग्राम केसर पीले सूती कपड़े मे लपेटकर गुरुवार के दिन कुछ दक्षिणा सहित देकर अपने परिवार के सुख शांति और जीवन की उन्नति का आशीर्वाद लें, और अपने परिवार मे हुई जाने-अनजाने गलती की माफी मांगे। इससे आपके सभी काम धीरे धीरे अपने सही रास्ते पर आने लगेंगे, बच्चों की पढ़ाई पर भी इसका बहुत अच्छा असर पड़ेगा।

Thanks