दरिद्रता- अपने घर में ही कर सकते हैं छोटे-छोटे ये उपाय
=> वास्तु के अनुसार घर का मुख्य दरवाजा पूर्व या उत्तर दिशा में हो तो शुभ रहता है। यदि आपके घर का दरवाजा ऐसा नहीं है तो मुख्य द्वार पर सोने, चांदी, तांबे या पंच धातु से बना हुआ स्वास्तिक लगाएं। इससे नकारात्मक ऊर्जा खत्म होगी और सकारात्मक ऊर्जा बढ़ेगी।
=>घर के मुख्य दरवाजे के बाहर तुलसी रखें। रोज सुबह तुलसी में जल चढ़ाएं। शाम को दीपक जलाएं। इससे घर की दरिद्रता दूर हो सकती है।
पूर्व या उत्तर दिशा में तुलसी लगाने से परिवार में आत्मविश्वास बढ़ता है।
=>वास्तु दोषों से बचने के लिए घर में तुलसी लगाएं और उसकी देखभाल करें।
=>यदि किसी जरूरतमंद व्यक्ति को या किसी ब्राह्मण को दान करना हो तो घर से बाहर आकर ही दान करना चाहिए।
=>चलते समय कभी भी पैर घसीटकर नहीं चलना चाहिए।
=>हमेशा अपने पैन से ही हस्ताक्षर करना चाहिए।
=>घर में फालतू सामान, टूटे-फूटे फर्नीचर, कबाड़, बिजली का बेकार सामान न रखें। अन्यथा घर की शांति दूर हो सकती है।
=>तिजोरी का मुंह उत्तर या पूर्व दिशा में होगा तो बहुत शुभ रहता है।
=>तिजोरी के दरवाजे पर कमल के आसन पर बैठी हुई महालक्ष्मी का फोटो लगाएं।
=> रोज घर के हर एक कोने की भी अच्छी तरह सफाई करनी चाहिए। इससे नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है।
=> घर में सुख-शांति दिखाने वाले सुंदर फोटो लगाने चाहिए। कोई लड़ाई या नकारात्मक संदेश देने वाले फोटो लगाने से बचना चाहिए।
=> घर की दीवारों में दरारें पड़ रही हों तो उन्हें जल्दी से जल्दी ठीक करवा लेना चाहिए। दरारें वास्तु दोषों को बढ़ाती हैं।
=> शाम के समय घर में दीपक अवश्य जलाना चाहिए.