सिंह लग्न की विशेषता

सिंह लग्न के व्यक्ति प्रबल इच्छाशक्ति वाले, उच्च महत्वाकांक्षी होते हैं। हर परिस्थिति का साहसपूर्ण तरीके से सामना करते हैं। थोड़ा अहंकार और स्तुतिप्रियता भी होती है। विरोध सहन नहीं कर पाते। दिल के उदार होते हैं। मगर ईंट का जवाब पत्थर से देने में भी विश्वास रखते हैं। यदि सूर्य की स्थिति प्रबल हो तो ये व्यक्ति उच्च पदों पर आसीन देखे जाते हैं।

शुभ ग्रह : सूर्य लग्नेश और मंगल भाग्येश और सुखेश बनकर अति शुभ होते हैं। इनकी दशा महादशा उन्नतिकारक होती है अत: कुंडली में इनकी स्थिति ठीक न होने पर रत्न, जप-दान आदि करना चाहिए।

अशुभ ग्रह : बुध, शुक्र और शनि इस लग्न के लिए अशुभ सिद्ध होते हैं। विशेषत: शनि छठे व सातवें भाव का स्वामी होकर अति अशुभ हो जाता है जो मारकेश बन सकता है। अत: उचित उपाय करके इन्हें शांत रखना चाहिए। इस लग्न के व्यक्तियों को मद्यपान और मांसाहार से बचना चाहिए।

तटस्थ ग्रह : चंद्रमा और गुरु इस लग्न के लिए तटस्थ (निष्क्रिय) ग्रहों का काम करते हैं।

इष्ट देव : सूर्य, गायत्री

शुभ रत्न : माणिक, मूँगा

रंग : सुनहरा, सफेद, लाल

तारीख व वार : 5, 9, 1, रविवार, मंगलवार

इस लग्न के व्यक्तियों को मकर, कुंभ व कर्क राशियों से विवाह संबंधों से बचना चाहिए।

By FB Friend Thanks