गमले में तुलसी का पौधा : इसकी 3 किस्में होती हैं। रामा तुलसी, श्यामा तुलसी और बन तुलसी। वर्ष में कभी भी लगा सकते हैं। यह अथाह औषधीय गुणों वाला पौधा है। यह पौधा धार्मिक आस्था भी रखता है। घर में इसका होना बहुत जरूरी है। ये वातावरण को शुद्ध रखता है। इसकी पत्तियों को चबाने से अनगिनत बीमारियों से बचा जा सकता है।

images (4)

मनीप्लांट : आसानी से मिलने वाला, हमेशा हरा-भरा रहने वाला यह बेलनुमा पौधा घर में धन का प्रतीक है (ऐसा माना जाता है)। इस पौधे को जमीन में, गमलों में, बोतलों में, धूप में, छांव में यहां तक कि अंधेरे कमरे में, बाथरूम और टॉयलेट में भी लगा सकते हैं।

images (4)

कड़ी पत्ता : कड़ी पत्ते का छोटा सा पेड़ घर के आंगन में रहना चाहिए। इसके पत्ते का सेवन करने से कई तरह के फायदे हैं। यह जहां बालों को काला बनाये रखता है वहीं पाचन तंत्र को भी सुरक्षित रखता है। सब्जी, दाल, कड़ी आदि में डालने से स्वाद बढ़ जाता है। इसकी जड़ का इस्तेमाल आंखों और किडनी के रोग के लिए होता है। कई कारणों से हिन्दू धर्म में इसका पेड़ लगाने की हिदायत दी गई है।

download (5)

रातरानी का पौधा : रातरानी के फूलों की एक विशेषता है कि उसकी खुशबू दिन में नहीं आती, वह रात की बाहों में अपनी महक छोड़ती है और ज्यों-ज्यों रात गहराती है उसकी खुशबू का जादू रात के सन्नाटे में और अधिक हो जाता है। जिस शख्स ने भी उस करामाती महक का अनुभव किया होगा, वह उसकी भीनी महक भुला नहीं सकता। यदि रातरानी नहीं मिले तो इसकी जगह मोगरे के फूल का उपयोग कर सकते हैं।

download (7)

दरअसल, इसके फूल रात में स्नान करने दिनभर महकते रहते हैं। एक टब में इसके 15 से 20 फूलों के गुच्छे डाल दें और उस टब को शयन कक्ष या बैठक रूम में रख दें। दिनभर यह खूशबू महकती रहेगी। इससे आपका दिमाग तो शांत रहेगा ही साथ ही सभी तरह के मानसिक तनाव समाप्त हो जाएंगे। रातरानी की शक्तिशाली खुशबू का दवा के रूप में सांस की समस्याओं, नाक और गले की जलन, सिर दर्द, मतली में कारगर सिद्ध होती है ।

वंदनवार:- आम या पीपल के नए कोमल पत्तों की माला को वंदनवार कहा जाता है। इसे अक्सर दीपावली के दिन द्वार पर बांधा जाता है। हालांकि इसे हमेशा बांधकर रखना शुभफलदायी है।

images (5)

वंदनवार इस बात का प्रतीक है कि देवगण इन पत्तों की भीनी भीनी सुगंध से आकर्षित होकर घर में प्रवेश करते हैं। वंदनवार बंधी रखने से घर परिवार में एकता व शांती बनी रहती है।

Thanks