वास्तु टिप्स अपनाएं, करियर को बुलंदियों तक पहुंचाएं

हर इंसान के जीवन में करियर का महत्व बहुत ज्यादा होता है और हर कोई यही चाहता है कि वो जो भी काम करे उसमें सफलता की बुलंदियों तक पहुंचें। लेकिन कई बार कड़ी मेहनत और परिश्रम करने के बाद भी हमें मनचाहा फल नहीं मिलता। या हम उस मुकाम तक नहीं पहुंच पाते जहां हमें होना चाहिए। ऐसे में वास्तुशास्त्र की मदद से हम अपने करियर में सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं। आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें और जानें कौन से हैं वो वास्तु टिप्स जिन्हें अपनाकर हम अपने करियर को ऊंचाईयों तक ले जा सकते हैं-

घर में हो दफ्तर तो-

अगर आप अपने घर से ही दफ्तर चलाते हैं यानी अगर आप होम ऑफिस से काम करते हैं तो ध्यान रखें कि वो कमरा आपके बेडरूम से सटा ना हो। सरकारी या निजी किसी भी संस्थान में ऊंचे पदों पर काम कर रहे लोगों के लिए बेहतर तो यही होगा कि अगर उनका ऑफिस घर के प्रवेश द्वार से दूर हो।

बैठने की तहज़ीब-

याद है बचपन में आपकी दादी मां अक्सर आपसे कहा करती थीं कि पैरों को तिरछा करके या एक दूसरे पर चढ़ाकर नहीं बैठना चाहिए। आपके कार्यस्थान या दफ्तर में भी यह सीख सही साबित होती है। ऑफिस में काम करते वक्त सीधे बैठें और पैरों को भी सीधा रखें।

कैसा हो ऑफिस टेबल-

ऑफिस स्पेस में ऐसे टेबलों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जिनका किनारा या कोना बहुत नुकीला हो। वास्तु के अनुसार इस तरह के टेबल बिजनेस मीटिंग के लिए भी उचित नहीं माने जाते। साथ ही अंडाकार, एल-शेप और यू-शेप के मेजों के इस्तेमाल से भी बचें। ऑफिस के लिए आयताकार टेबलों का इस्तेमाल ही सही माना जाता है।

कॉन्फ्रेंस रूम-

यदि आप किसी मीटिंग या कॉन्फ्रेंस में हैं तो कोशिश करें कि आपकी सीट या कुर्सी कमरे के मुख्य दरवाजे से दूरे हो। इससे आप बेवजह के विघ्नों से बचे रहेंगे।

सिर के ऊपर बीम ना हो-

वास्तु शास्त्र के मुताबिक ऑफिस में काम करते वक्त आपके सिर के ऊपर छत की बीम होना शुभ नहीं माना जाता। अगर ऐसा है तो अपनी सीट या कुर्सी को थोड़ा इधर-उधर शिफ्ट कर लें

फूलों से करें प्यार-

अपने वर्क डेस्क की पूर्व दिशा में एक फूलदान में हर दिन ताजे फूल लगाएं। अगर फूलों में कलियां भी हैं तो ये ज्यादा बेहतर है क्योंकि यह नई शुरुआत को दर्शाते हैं। साथ ही ऑफिस की दक्षिण-पूर्व दिशा में कुछ इंडोर प्लांट्स भी रखें। इससे आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलता है।

कैसी हो लाइट व्यवस्था-

कोशिश करें कि आपके वर्कप्लेस और उसके आसपास पूरी रौशनी हो। इससे सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा मिलता है। अच्छे काम को बढ़ावा देने के लिए बेहतर होगा यदि आप लाइटों को दक्षिण दिशा में लगाकर रखेंगे।

क्रिस्टल का करें इस्तेमाल-

अगर आप चाहते हैं कि आपको ऑफिस में हर दिन नए अवसर मिलें, बिना किसी रुकावट के आपका काम सहज तरीके से होता रहे तो ऑफिस में आप क्वार्ट्ज क्रिस्टल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मशीनों की जगह-

कोशिश करें कि ऑफिस में मशीनों, कम्प्यूटर और टेलिफोन वगैरह को दक्षिण-पूर्व कॉर्नर में रखा जाए। साथ ही इनसे जुड़ी तारें भी नजर नहीं आनी चाहिए।

Thanks